दिल्‍ली प्रदेश के रैगर समाज की जनगणना का शुभारम्‍भ हुआ

By February 23, 2014latest_news

अखिल भारतीय रैगर महासभा दिल्‍ली प्रदेश शाखा के तत्‍वाधान में दिल्‍ली प्रदेश के समस्‍त रैगर समाज की आबादी की जनगणना का शुभारम्‍भ किया गया । इस अवसर पर दिल्‍ली प्रदेश महासभा अध्‍यक्ष श्री सोहन लाल पीपलीवाल जी ने कहा कि रैगर समाज पूरी दिल्‍ली में विभिन्‍न क्षेत्रों में निवास करता है इस कारण से हम सभी एक दूसरे से पूरी तरह से परिचित नहीं है । इस कारण यह हो रहा है कि हमारे पूरे रैगर समाज की एकता और अखण्‍डता में कमी आ रही है ओर साथ ही सामाजिक एवं राजनीतिक क्षेत्रों में भी हम अपना वर्चस्‍व पूर्ण रूप से स्‍थापित नहीं कर पा रहें हैं, ओर इसके साथ ही पूरे समाज से यह अपील की कि इस जनगणना के पुनीत कार्य को सफल बनाएँ जिससे रैगर समाज के व्‍यक्तियों की जनगणना होने से रैगर समाज को एकता के सूत्र में पिरोया जा सकेगा । हमारा समाज सामाजिक राजनीतिक एवं अन्‍य क्षेत्रों में भी विकास करेगा । समाज के विकसित होने के विकल्‍पों/सुझावों पर आप और हम सभी मिल जुलकर विचार कर सकेंगे ।
श्री नवल किशोर खटनावलिया जी ने कहा कि दिल्‍ली में रैगर समाज के व्‍यक्तियों की जनगणना से रैगर समाज के समाजिक एवं शैक्षणिक क्षेत्र में विकास होगा और ऐसा तभी होगा जब रैगर समाज के सभी व्‍यक्ति इसके लिए एकजुट होंगे । रैगर समाज के सर्वांगीण विकास के लिए समाज के सभी युवक एवं युवतियों को आह्वान करते हुए कहा कि समाज में जो भी परिवर्तन होते है वे युवाशक्ति के द्वारा ही होते है । दिल्‍ल में रैगर समाज की जनगणना नहीं होने के कारण हमारे समाज को राजनीतिक क्षेत्र में उचित प्रतिनिधित्‍व नहीं मिल पा रहा है । दिल्‍ली में हामरे समाज के व्‍यक्तियों की जनगणना होने से हमें सामाजिक, राजनीतिक एवं अन्‍य क्षेत्रों में अपने आप को स्‍थापित करने का मौका मिलेगा और हमारा समाज और अधिक उन्‍नति की ओर अग्रसर होगा । इसके साथ ही सभी इस महायज्ञ में बढचढकर हिस्‍सा ले ओर इसे सफल बनाने में अपना अमुल्‍य समय व योगदान प्रदान करें।

Leave a Reply