पाली कलक्टर ने गोद ली रैगर समाज की बेटी

पाली। पाली जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने मंगलवार को राज्य सरकार की ‘अपनी बेटी योजना’ के तहत रैगर समाज की बेटी को गोद लिया हैं। इस बेटी को उच्च शिक्षा दिलाने की समुचित व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से की जाएगी। पाली जिला मुख्यालय पर मंगलवार को जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने महाराणा प्रताप नगर निवासी कुसुम बालोटिया को गोद लिया है। यह बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय, सरदार पटेल नगर में आठवी कक्षा में अध्ययनरत है। बालिका अपने नाना हापुराम के साथ रहती है। प्रशासन की दत्तक पुत्री कुसुम बनना चाहती कलक्टर रैगर समाज की आठवीं कक्षा की प्रतिभाशाली छात्रा कुसुम अब स्वयं जिला कलक्टर बनना चाहती हैं। उसे पाली जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम से नई प्रेरणा मिली है। दरअसल कुमारी कुसुम बालोटिया पुत्री श्रीमती जमना देवी एवं खींवराज बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय मिल क्षेत्र पाली की एक निराश्रित छात्रा थी, जिसके भाई-बहिन नहीं है। कुसुम अपने नाना-नानी के साथ रह रही हैं क्योकि 14 वर्ष पूर्व उनके पिता ने उसकी माता को छोड़कर दूसरी शादी कर ली थी एवं इसके दो वर्ष उपरान्त उसकी माता का भी नाता हो गया। ऐसे में इस बेसहारा कन्या को उसके नाना-नानी पाल रहे है जो बहुत वृद्ध हैं तथा निर्धन भी है। इस वृद्ध दम्पती के लिए इस कन्या का भरण-पोषण करना अत्यन्त कठिन हो रहा था। बेसहारा कुसुम को मंगलवार को उस समय सहारा मिल गया जब उसे जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने गोद ले लिया। कुसुम को जिला प्रशासन की बेटी घोषित किया एवं उसकी सभी आवश्यकताओं जिला प्रसाशन पूरी करेगा। कुमार पाल से मिलने के बाद प्रफुल्लित कुसुम ने बताया कि उसमें नए जोश व उत्साह का संचार हुआ है तथा वह अब सभी प्रकार की परिस्थितियों का सामना कर कठिन परिश्रम करेगी । उसका लक्ष्य भारतीय प्रशासनिक सेवा उत्तीर्ण कर स्वयं कलक्टर बनना हैं।

Leave a Reply