21/05/2013 से रैगर समाज की सर्व सुविधा युक्‍त नई रैगर वैवाहिकी वेबसाईट का शुभारम्‍भ

(Raigar Community Matrimonial Website)
आजकल शादी के लिए एक अच्‍छे दूल्हे या दुल्हन की तलाश करना, वाकई बड़ा मुश्किल काम है। खासकर उनके लिए जो 12 से ज्यादा घंटे आफिस में बिताते हैं । रोजगार की तलाश में आज गांवों से हर कोई पलायन कर शहरों में बसता जा रहा है रैगर समाज भी इस पलायन से अछूत नहीं है। अच्छे रोजगार, बच्चों के लिए अच्छी शिक्षा व्यवस्था व अच्छे रहन सहन की सुविधाओं के लिए रैगर समाज के लोग भी शहरों में बस रहे है । चूँकि गांवों की अपेक्षा शहरों में सजातिय लोगों से मिलना जुलना सीमित रहता है रिश्तेदारों से भी थोड़ी दूरियां बन जाती है और सबसे ज्यादा दिक्कत तब आती है जब बच्चे बड़े होकर रिश्ते करने लायक हो जाते है ऐसे में सीमित संपर्कों के चलते रिश्ते तलाशने और भी मुश्किल हो जाते है ओर इसी मुश्किल को आसान किया है आपकी रैगर समाज की वेबसाईट www.raigarsamaj.com ने।
रैगर समाज की नि:शुल्‍क जीवनसाथी वेबसाईट www.raigarsamaj.com के संचालक ब्रजेश हंजावलिया, मन्‍दसौर (म.प्र.) ने अपने विवाह की आठवीं सालगीरह (21-05-2013) के अवसर पर समाज के अविवाहित युवक/युवतियों ओर उनके परिजनों को नि:शुल्‍क जीवनसाथी खोजने के लिए वेबसाईट तैयार कर समाज के लिए प्रारम्‍भ की है। इस वेबसाईट का सम्‍पूर्ण खर्च अमेरिका निवासी श्री रामप्रसाद जी निन्‍दरिया (मूल निवासी ग्राम पिपलाज, केकड़ी) द्वारा वहन किया गया जिसके लिए समाज हमेशा आपका आभारी रहेगा। आप दोनों ने कड़ी मेहनत कर समाज सेवा का एक उदाहरण प्रस्‍तुत किया है । रैगर समाज की बेबसाईट में अब आप फोटो भी जोड़ सकते है व देख सकते है अब वेबसाईट पर आप शिक्षा, परिवार की चारों गौत्र, वजन, लम्‍बाई, व्‍यवसाय/नौकरी, जन्म, परिवार के बारे में इस तरह की कुल मिलाकर 50 से भी अधिक जानकारियां प्राफाईल में देख सकते है।
वेबसाईट संचाल‍क हंजावलिया जी ने इस मौके पर कहा कि अब समय की आपाधापी में अब इंटनेट के माध्यम से अपने लिए जीवनसाथी का चुनाव किया जाने लगा है। इस वेबसाईट के द्वारा आप अपने मन-पसंद जीवन साथी की खोज कर सकते है । और यह सर्विस बिल्कुल मुफ्त है । लेकिन यह वेब साईट अपने उद्श्यों में तभी सफल हो पायेगी जब आप समाज के सभी बंधु अपने विवाह योग्य बच्चों का यहाँ नि:शुल्‍क पंजीकरण करवाएंगे । यह वेबसाईट समाज के बंधुओं के लिए पुरी तरह से नि:शुल्‍क है । समाज के बंधुओं से निवेदन है कि वे अधिक से अधिक संख्‍या में जुड़ कर इस आधुनिक यज्ञ को सफल बनाए । आपको मन-पसंद वर/वधु की प्राप्ती हो, इसी कामना के साथ “एक सुखद विवाहित जीवन की शुभकामनाएँ ” ।

(नोट :- इस वेबसाईट पर जाने के लिए www.theraigarsamaj.com होम पेज पर देखे)

Leave a Reply