स्कूल का कमरा - श्री गोरुराम सबलानिया

स्व. श्री गोरुराम सबलानिया गाँव करीरी, तहसील शाहपुरा, जिला जयपुर तक़रीबन 50 वर्ष पुरानी बात है तत्कालीन राज्य सरकार ने गाँव में स्कूल बनाने के लिए जगह व कमरों की मांग की । जगह ग्राम सभा से उपलब्ध हो गयी । स्‍कुल के कमरे बनाने के लिए सभी जात बिरादरियों की बैठक हुई । बनिया, ब्राह्मण, क्षत्रिय ने कमरे निर्माण की हामी दी व रकम उपलब्ध करवा दी । जब रैगर समाज की बारी आई तो गाँव के रैगर समाज व स्वयं की प्रतिकूल स्थिति होते भी गोरुराम सबलानिया जी ने रूपया कर्ज पर लेकर कमरे का निर्माण करवाया ओर रैगर समाज की लाज रखी व मान बढाया । इस में महत्वपूर्ण यह है कि ये स्वयं झोपड़ी में रहते थे और लम्बे समय तक कर्ज चुकाने के कारण झोपड़ी में ही रहना पड़ा । आज गोरुराम जी सबलानिया हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनके द्वारा रैगर समाज की साख के रूप में स्कूल का कमरा मौजूद है । समाज के ऐसे दानवीर को हम शतशत् नमन करते है जिन्‍होने विषम परिस्थ्तियों के होते हुए भी स्‍वयं की परवान नहीं करते हुए समाज के मान सम्‍मान को र्स्‍वोपरि रखा व दान दिया ।