अखिल भारतीय रैगर महासभा के आजीवन सदस्य 500 रूपये में बनिए

जयपुर। बुधवार 4 जुलाई 2018 आजकल सोशल मिडिया पर समाज के लोगो द्वारा सविंधान संशोधन और सदस्यता को लेकर हो रही चर्चा/बहस को देखकर अखिल भारतीय रैगर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी. एल. खटनावलिया (नवल) ने समाज के लोगो के नाम एक सन्देश जारी किया है।

 

सम्माननीय समाज बन्धुओं, सादर वन्दन

वर्तमान महासभा के कार्यकाल में हमारी प्रतिबद्धता को निभाते हुए आप सभी की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए एवं सन् 2004 व 2007 में मेरे द्वारा महासभा के चुनाव कराते समय जो कठिनाइयाँजटिलताएँ महसूस की गईजिसे बहुत पहले ही सुधारा जाना चाहिये था तथा इस बाबत तत्कालीन महासचिव स्व के एल कमल सा. को भी अवगत कराया मगर तब संशोधन का कार्य नही हो सका। अब आप सभी के सहयोग से व कार्यकारिणी की सक्रिय भागीदारी से विधि की व्यवस्था के अनुसार विधान में संशोधन किया जाकर रजिस्ट्रार सोसाईटीज से अनुमोदन उपरान्त महासभा की पहली कार्यकारिणी बैठक दिनॉक 10.06.2018 में जानकारी प्रस्तुत की गई।

एक दो लोगों द्वारा मनगढ़ंत व असत्य बातें सोश्यल मिडिया पर उड़ाई जा रही हैजिसे स्पष्ट किया जाना आवश्यक हो गया है। संशोधन के प्रमुख बिन्दु/प्रावधान समाज की जानकारी में लाये जा रहे हैं जो इस प्रकार है :-

1. स्थाई प्रतिनिधि सदस्यता शुल्क रु० 500 होगी जो पहले रु० 1100 थी।

2. अध्यक्ष व वरिष्ठ उपाध्यक्ष की चुनाव शुल्क अब रु० 11000 होगी जो पहले रु० 21000 थी

3. उपाध्यक्ष व महासचिव की चुनाव शुल्क अब रु० 5000 होगी जो पहले रु० 11000 थी

4. कारयकारिणी सदस्यों की चुनाव राशि अब रु० 1100 के सथान पर रु० 1000 ली जायेगी

5. अब सिर्फ 34 पदाधिकारियों का ही चुनाव होगा कार्यकारिणी के 51 सदस्यों का मनोनयन इन चुने हुए 34 पदाधिकारियों से विचार विमर्श बाद किये जायेंगे तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष को सभी प्रदेशों की भागीदारी सुनिशचित करनी होगी।

6. मतदाताओं की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करने तथा अपव्यय रोकने के लिए अब मतदान सभी प्रदेश मुख्यालय पर करवाये जाने होगें।

7. कोई भी व्यक्ति किसी भी पद पर दो बार निर्वाचित हो जाने के बाद उस पद पर फिर चुनाव नहीं लड़ पायेगा व ना ही मनोनीत हो सकेगा।

8. हमेशा की भॉन्ति प्रदेशजिला व तहसील कार्यकारिणी का मनोनयन होगा उसे वैधानिकता प्रदान की गई है।

9. विधान में युवा प्रकोष्टमहिला प्रकोष्ट व विधि प्रकोष्ट का विधिवत प्रावधान किया गया।

प्रतिनिधी स्थाई सदस्यता हेतु अभी कार्यवाही चल रही है। जो भी समाज बन्धु सदस्य बनने की इच्छा रखते है वह अपने प्रदेश के अध्यक्षयुवा प्रकोष्ट व महिला प्रकोष्ट के अध्यक्ष से सम्पर्क करें। 30 अगस्त, 2018 तक सदस्यता अभियान चलेगा।

1 Response
  1. Narendra singaria

    I want to join रैगर कार्यकारिणी
    Now a day we need to main मुद्दा is that how we can build our unity and I want to work on it

Leave a Reply