Hide Raigar Newsरैगर समाज प्रतिभावान सम्‍मान समारोह सम्‍पन्‍न : झालावाड़

झालावाड़ – अखिल भारतीय रैगर महासभा युवा प्रकोष्‍ठ झालावाड़ के तत्वावधान में 30 जनवरी 2014 गुरूवार को दोपहर 12 बजे ’’ झालावाड़ रैगर प्रतिभा सम्मान समारोह 2014’’ एक निजी होटल झमकू पैलेस में आयोजित हुआ । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय श्री रामचन्द्र सुनारीवाल विधायक डग एवं उनकी धर्म पत्नि श्री मति सुशीला देवी थे । विशिष्ट अतिथि के तौर पर युवा महासभा के प्रदेश अध्यक्ष शंकरलाल नारोलिया एवं उनकी धर्म पत्नि श्रीमती अजंना नारोलिया, रघुवंशी रक्षक पत्रिका के सम्पादक मुकेश गाडेगावलिया, रैगर समाज वैबसाइड के सचांलक बृजेश हंजावलिया, समाज सेवी मन्दसौर से श्री किशनलाल हंजावलिया, झालावाड़ जिले के वरिष्ठ समाजसेवी महाराज हरीराम गिरी शेर, श्री लाल धौलखेडिया, अखिल भारतीय रैगर महासभा, झालावाड़ के जिलाध्यक्ष विष्णुदयाल रैगर, युवा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष शंकरलाल रैगर एवं युवा प्रकोष्ठ के पूर्व जिलाध्यक्ष बृजमोहन सुन्दरपूरिया, युवा महासभा के प्रदेश संरक्षक हनुमान प्रसाद सौकरिया, युवा महासभा के कोषाध्यक्ष श्री महेन्द्र कांसोटिया, गरोठ मध्यप्रदेश से वरिष्ठ अध्यापक मोहन जगरवाल थे । कार्यक्रम की अध्यक्षता झालरापाटन नगरपालिका की पूर्व पार्षद श्रीमति चन्द्रीबाई द्वारा की गई ।

कार्यक्रम की शुरूआत में मॉ सरस्वती, बाबा साहब अम्बेडकर, समाज के घर्म गुरू स्‍वामी ज्ञानस्वरूप जी व आत्माराम जी लक्ष्य महाराज की प्रतिमाओं पर अतिथियों द्वारा पुष्प अर्पित करके दीप प्रज्वलित किया । सरस्वती वंदना कुमारी शिल्पा बडारिया व पिकीं गुसाईवाल द्वारा की गई । स्वागत गीत कमारी पूर्णिमा सिंह उर्फ खुशबू शेर द्वारा प्रस्तुत किया गया ।

मंचासीन अतिथियों का माला व साफा बॉधकर स्वागत किया गया । कार्यक्रम में सभी उपस्थित मंचासीन अतिथियों ने अपने अपने विचार प्रकट किये । इसके मध्य ही प्रतिभाओं का सम्मान किया जिसमें-
– 10वी कक्षा उतीर्ण करने पर -70 प्रतिशत छात्रा व 75 प्रतिशत छात्र
कु0 पूजा श्री राजेन्द्रकुमार धौलखैडिया 71%, विजय वर्मा श्री बाबूलाल भसावडिया 85%, रविकुमार वर्मा श्री सूरजमल 82%, अंजली वर्मा श्री बाबूलाल भसावडिया 74%, महावीर प्रसाद श्री छीतरलाल 77%,
– 12 वी कक्षा उतीर्ण करने पर 70 प्रतिशत छात्रा व 75 प्रतिशत छात्र
लक्ष्मीकान्त श्री राजेन्द्र कुमार धौलखैडिया 87%, रविकांत श्री राजेन्द्र 86%, सुरेश कुमार श्री बृजमोहन धौलखैडिया, अनिता वर्मा श्री मन्नालाल वर्मा 70%, निनती वर्मा श्री राधेश्याम बासीवाल, कुसुमलता श्री रामभरोस 71%, पवन कुमार श्री राजेन्द्र, देवेन्द्र कुमार श्री दौलतराम खमोकरिया 76%,
– बीटेक कक्षा उतीर्ण करने पर : मीनाक्षी श्री कन्हैयालाल शैर 73%,
– अन्य पुरूस्कार : जितेन्द्र कुमार श्री तेजमल बडारिया नेशनल रोल प्ले प्रथम स्थान झालावाड
– जिलास्तर विज्ञान विकास एवं जनसंख्या व विकास शिक्षा मेला : कन्नू श्री रामचरण बासीवाल नेशनल रोल प्ले, संजीव कुमार श्री अमरलाल गिरिराज श्री अमरलाल तोणगरिया राष्ट्रीय खेल पुरूस्कार
– गत वर्ष सरकारी सेवा में चयनित होने वाले विधार्थीयों को भी माला व श्रीफल से सम्मानित किया गया। जिसमें : श्री पूनमचन्द्र श्री तुलसीराम शैर द्वितीय श्रैणी अध्यापक झालावाड, श्री लोकेश श्री कृष्णगोपाल तृतीय श्रैणी अध्यापक झालावाड, श्री सुरेन्द्र श्री ताराचन्द्र राठौडिया तृतीय श्रैणी अध्यापक झालावाड, श्री दिनेश श्री लटुरचन्द बडारिया तृतीय श्रैणी अध्यापक झालावाड, श्री दिनेश श्री तृतीय श्रैणी अध्यापक झालावाड, श्री सोनू श्री तृतीय श्रैणी अध्यापक तारज, श्री बबलू श्री तृतीय श्रैणी अध्यापक तारज, श्री कमलेश खटनावलिया नर्स आयुवेर्दिक अकलेरा
– जिले से समाज का प्रथम राजपत्रित अधिकारी बनने पर डा.रवि शेर हरीगढ को दिया
– समाज सेवा का पुरूस्कार, समाज के उत्थान के कार्य करने के लिए तीन व्यक्ति सम्मानित किये जिनमें:- महाराज श्री हरीराम गिरी शेर समाज सुधारक कार्य हरीगढ, श्री श्री लाल धौलखैडिया समाज सुधारक कार्य हरीगढ, श्री ताराचन्द राठौडिया समाज सुधारक कार्य झालावाड
– रैगर समाज के मीडिया क्षैत्र में उल्‍लेखनिय योगदान के लिए इन्‍हे पुरस्‍कृत किया गया, मीडिया क्षैत्र में कार्य करने वालों में :- श्री मुकेश गाडेगावलिया पत्रिका रघुवंशी रक्षक पत्रिका जयपुर, श्री बृजेश हंजवलिया रैगर समाज बेबसाइट मन्‍दसौर (म.प्र.)

 

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय रामचन्द्र सुनारीवाल ने सभा को सम्‍बोधित करते हुए अपने उद्भोदन में कहा कि पूरे राजस्थान में हमारे समाज की संख्या तीस लाख से ज्यादा है । यह संख्या राजस्थान की अनुसूचित जातियों में सबसे ज्यादा संख्या है । इसके बावजूद राजनितिक क्षैत्र में हमारे समाज से मात्र 2 विधायक जीत कर आये जिनमें एक विधायक आपके सामने है । इन्होने बताया की राजनितिक पार्टी से हूँ इसलिए राजनिति की बात तो करूगॉ । सुनारीवाल ने आरक्षण की बात की जिसमें कहा कि आज हमें जो आरक्षण प्राप्त है व किसी पार्टी की देन नही है । यह आरक्षण दिया है तो वह बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की देन हे । हमें किसी से दबकर रहने की आवश्यकता नहीं है । हमें वहां जाना चाहिए जहॉ समाज का भला हो । विधायक महोदय का इशारा अपनी पार्टी की ओर था । सुनारीवाल ने बताया कि मुझे मुख्यमंत्री महोदया महारानी श्रीमती वंसुधरा राजे सिधिया व उनके पुत्र सांसद माननीय श्री दुष्यतं सिंह जी ने उस क्षैत्र से टिकिट दिया जहॉ से रैगर समाज के दो सौ वोटर भी नहीं थे । लेकिन पचास हजार से ज्यादा मतों से जीत हासिल की ओर पार्टी में रिकार्ड भी बनाया । युवाओ को संदेश देते हुए कहा कि आज शिक्षा का जमाना हे । हमें शिक्षा ग्रहण करने में कोई कमी नहीं रखना चाहिए । विधायक महोदय ने कहा कि रैगर समाज को एकता रखते हुए आगे बढना चाहियें ।

मुख्य अतिथि विधायक महोदय की धर्म पत्नि श्रीमती सुशीला देवी सुनारीवाल ने भी मंच से हाथ जोडकर अभिवादन किया जिसे सभी ने तालियों के साथ स्वीकार किया । अध्यक्षता कर रही झालरापाटन नगरपालिका की पूर्व पार्षद श्रीमती चन्द्री बाई कासोटिया ने समाज का हाथ जोड कर धन्यवाद दिया ।
विशिष्ट अतिथि शंकरलाल नारालिया ने कहा कि समाज के युवाओं एकजुट रहना चाहिए । श्रीमती अंजना नारोलिया ने समाज की महिलाओ को आगे लाने पर जोर दिया ।
श्री मुकेश गाडेगावलिया ने समाज की घटनाओं की विस्तार से जानकारी दी और बताया की रघुवंशी रक्षक अखबार हमेंशा आपकी समस्याओं को खबरों के माध्यम से आगें बढाता है यह समाज का निष्पक्ष अखबार है ।
श्री किशनलाल हंजावलिया ने कहा कि हमें ऐसे कार्यक्रम से सीख लेकर अन्य जगहो पर भी कार्यक्रमों का आयोजन करते रहना चाहिए ।
हनुमान प्रसाद सौकरिया ने समाज में अपने अनुभवों को सुनाया। महेन्द्र कासोटिया ने युवा प्रकोष्ट में सदस्यता अभियान चलाकर सदस्ता बढाने पर जोर दिया ।
झालवाड़ जिले के समाज के गुरू महाराज श्री हरीराम गिरी शेर द्वारा बताया कि हमे हमारे बच्चों को शिक्षा दिलानी चाहिए । इन्होने उदाहरण के तौर पर शिक्षा के परिणाम को गिनाते हुए बताया कि हमने शिक्षा पर बहुत पहले से ही ध्यान दिया तो आज मेरे शेर परिवार हरीगढ का जिले में रिकार्ड बना है । क्योंकि जिले में पहला कर्मचारी मेरा छोटा भाई पटवारी बना वह सेवानिवृत हो चुका व जिले की प्रथम महिला कर्मचारी हुई तो वह मेरी लडकी हुई और जिले का पहला राजपत्रित अधिकारी हुआ तो वह भी मेरे परिवार से ही डॉक्टर बना है और जिले में समाज का रिकार्ड बनाया । और जिले में समाज का प्रथम इजींनियर की बात करे तो लडको में व लडकीयों में दोनो रिकार्ड भी मेरे ही परिवार के खाते में जा रहे है । हरीराम जी ने बताया की मै यह सब बाते अहम से नही कह रहा हॅू । यहा पर शिक्षा की बात हो रही है इसलिए आपके सामने शिक्षा के फायदे बता रहा हॅू । आप भी अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देगें तो आपके परिवार में भी कर्मचारी अधिकारीयों की लाइन लग जायेगी। सभी उपस्थित समाज ने इनकी बातो इनके उदाहरण को ध्यान से सुना ।
वरिष्ठ समाजसेवी श्रीलाल धौलखैडिया ने अपना भाषण हाडौती भाषा में देते हुए बताया कि मै हमेंशा से ही कहता हुआ आया हॅू कि समाज के लोगो को एक जुटता से रहना चाहिए क्योकि एकता से ही जीत होती है । इस कार्यक्रम में अच्छे अंक लाने वाले बच्चों मे चार पौते इनके भी सम्मानीत हुए है ।
अखिल भारतीय रैगर महासभा झालावाड़ के जिलाध्यक्ष विष्णुदयाल रैगर ने अपने अनुभवों में बताया कि मैं गत दस बारह वर्षो से समाज के कार्यक्रम व समाज सुधार के कार्य करता आया हूँ । मेंने मेरे अनुभवों में पाया कि समाज जमीनी स्तर पर एक होकर चलता है। लेकिन उच्च स्तर पर जो संगठन बन रहे वह समाज में फूट डालने का कार्य कर रहे हैं । ऐसे संगठन समाज को नरक में ले जाने का कार्य कर रहे हैं । इन्होंने अपने विचारों में कहा कि जमीनी स्तर के लोगों को (ग्राम स्तर, तहसील स्तर, जिला स्तर पर) अपने क्षेत्र के चुनाव करके अध्यक्ष तैयार करना चाहिए और जो भी अध्यक्ष निर्वाचित हो उस निर्वाचित अध्यक्ष का नाम देश में रैगर समाज की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय रैगर महासभा से जिलाध्यक्ष का प्रमाण पत्र जारी करके मनोनयन करना चाहिए ताकि सभी की पसंद का जिलाध्यक्ष माना जावेगा। इस व्यवस्था की प्रक्रिया तहत अध्यक्ष बनने क बाद भी ऊपर से किसी भी प्रकार का संगठन क्षेत्र में घुसने की कोशिश करे तो उसे क्षेत्र में घुसने नहीं देवें और बतावें कि हमारे पास हमारा निर्वाचित व मनोनित सर्वमान्य अध्यक्ष है अब हमें ज्यादा अध्यक्षों की जरूरत नहीं हैं यह कहा जावे । अगर ऐसी व्यवस्था लागू हो जावेगी तो उच्च स्तर पर लोग संगठन बनाना भूल जायेगें और समाज एकता की ओर चल पड़ेगा । विष्णु दयाल रैगर एवं इनकी टीम ने झालावाड़ जिले में अनेक कार्य किये हैं सन 2007 में न्यूयार्क प्रवासी भामासाह, सेठ भंवर लाल नवल साहब का भी दौरा कराया था जिसमें सेठ नवल ने समाज के लोगों को एक हजार कंबल वितरण किये थे और समाज को छात्रावास निमार्ण के लिए 10,00,000 रू. (दस लाख रूपये) की घोषणा करवाई थी । इन्होंने समाज में मृत्युभोज बंद कराने के लिए भी अभियान चलाया था । इस अभियान के तहत 22 मृत्युभोज रूकवाये । शिक्षा के क्षेत्र के विकास में इन्‍होंने अपना लक्ष्य बना रखा है और इनका कहना है कि समाज के बच्चों के लिए समाज का छात्रावास जिला मुख्यालय पर देखना चाहते हैं । इसके लिए इन्होंने समाज के लिए सरकार से 3 बीघा जमीन प्रस्तावित भी करवा ली है । ऐसी संभावना जताई जा रही है कि राजस्थान की मुख्यमंत्री माननीया श्रीमती वसुन्धरा राजे सिंधिया व क्षेत्र के सांसद माननीय श्री दुष्यन्त सिंह द्वारा समाज को शीघ्र ही निःशुल्क भूमि आवंटित कर दी जावेगी । जिससे समाज को विकास के मुख्यधारा में लाने के लिए सहयोग मिलेगा । विष्णु दयाल रैगर व इनकी टीम निःस्वार्थ समाज सेवा के कार्य करते आये हैं और आगे भी ऐसे ही सेवा जारी रखेगें ।
नव नियुक्त युवा जिलाध्यक्ष शंकर लाल रैगर ने बताया कि मेरा यह पहला अनुभव है मुझे बड़ी खुशी हुई है कि इतने लोगों के साथ हमारा कार्यक्रम का आयोजन सफल साबित हुआ है । झालावाड़ जिले में रैगर महासभा के जिलाध्यक्ष विष्णु दयाल रैगर ने हमें एकता के सूत्र में रखते हुए मुझे आगे बढ़ाया और युवा जिलाध्यक्ष के लिए प्रदेश अध्यक्ष शंकर लाल नारोलिया से अनुसंशा की और सफलता दिलाई इसके लिए मेरे सभी साथियों को (झालरापाटन, धनवाड़ा एवं गाँवों से आये कार्य कर्ताओं) धन्यवाद देता हूँ और ऊपर समाज के युवाओं को एकत्रित करते हुए साथ लेकर चलेगें ।
पूर्व युवा जिलाध्यक्ष ब्रजमोहन सुन्दरपुरिया ने बताया कि इस कार्यक्रम में धनवाड़ा रैगर समाज का काफी योगदान रहा है और समाज को एकता में बाँधने का प्रयास किया जाता रहा है । कार्यक्रम में झालरापाटन, झालावाड़ और मोहल्ला धनवाड़ा व गावों के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं का सहयोग रहा जिसमें सूरजमल पलिया, शंकरलाल बेहरलाल, बृजमोहन सुन्दरिया, राजू सुन्दरिया (ठेकेदार), दिनेश बासीवाल, शिवराज तोनगरिया, बबलू ओलण्डिया, रामप्रसाद बैरवाल, भूपेन्द्र खटनावलिया, दिनेश ओलण्डिया, जगदीश पलिया, पप्पू बैरवाल, श्रवण खमोखरिया, दिनेश सोंकरिया, रामकरण बैरवाल, बृजमोहन धोलखेड़िया, फूलचन्द चांदोरिया, महावीर शेर, महेन्द्र बडारिया, दुर्गालाल ओलण्डिया, धनराज बासीवाल, पुनमचन्द तगाया, रामदयाल तगाया, गोविन्द पलिया, रामनारायण ओलण्डिया, सुरेश कांसोटिया, रामचन्द बेरवाल, बाबूलाल बेरवाल, हुकमचन्द कांसोटिया, बाबूलाल ओलण्डिया, लक्ष्मीनारायण बेरवाल, मोहनलाल सिसवालिया, कन्हैयालाल गुणसारिया, कब्बू छोमियां, राधेश्याम चांदोलिया, निर्मल कुमार, मुरली बडारिया, हुकुमचन्द रैगर, दौलत ओलण्डिया, रामदयाल बडारिया, दिलिप ओलण्डिया, लालचन्द ओलण्डिया, कालूलाल ओलण्डिया, पप्पू चांदोलिया, सुरेश पेन्टर, भीमराज बडारिया, मनोज शेर, सुरेश सीसवालिया, भैरूलाल बसनोदिया, रंगलाल, मुकेश पलिया, पवन सिसवालिया, प्रभूलाल बासीवाल, मुकेश बेरवाल, कानू पलिया, मुकुन्द पलिया, ओमप्रकाश शेर, तेजमल बडारिया, तुलसीराम बडारिया, देवेन्द्र शेर, दिनेश रैगर ।
महिलाओं का भी रहा योगदान : कार्यक्रम में समाज की महिलाओं ने भी बढ़-चढ़ कर भाग लिया और कार्यक्रम को सफलता दिलाई ।
कार्यक्रम का संचालन बिरधीचन्द बजेपुरिया द्वारा किया गया ।

Leave a Reply